हिमाचल CM के आदेश को ठेंगा: ठियोग उत्सव में शॉल-टोपी व फूलों से मंत्री और उपाध्यक्ष का सम्मान; सरकार ने लगा रखी रोक
Uncategorized

हिमाचल CM के आदेश को ठेंगा: ठियोग उत्सव में शॉल-टोपी व फूलों से मंत्री और उपाध्यक्ष का सम्मान; सरकार ने लगा रखी रोक


  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Theog: Violation Of CM’s Orders | After Bane Honoring Of Guests With Shawls Caps And Flower Bunch | Theog Utsav | Himachal Government | Chief Minister Sukhwinder Sukhu | Himachal Theog Shimla

शिमला4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

ठियोग उत्सव में शिक्षा मंत्री को सम्मानित करते हुए नगर परिषद के चेयरमैन

हिमाचल सरकार के आदेशों की मंत्री और वाइस-चेयरमैन भी धज्जियां उड़ा रहे हैं। ठियोग उत्सव में बीती शाम शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर और वन निगम के उपाध्यक्ष केहर सिंह खाची बतौर मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथि पहुंचे। इस दौरान दोनों को शॉल, टोपी, फूल व मालाओं से सम्मानित किया गया।

मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू ने आपदा को देखते हुए 31 अक्तूबर 2023 तक सरकारी कार्यक्रमों में इस तरह से सम्मानित करने पर रोक लगा रखी है। इसे लेकर सामान्य प्रशासन विभाग ने बाकायदा 28 अगस्त को ऑर्डर भी जारी किए। बावजूद इसके सरकारी आदेशों को ठेंगा दिखाया गया है।

वन निगम के उपाध्यक्ष केहर सिंह खाची का ठियोग उत्सव में पुष्प गुच्छ के साथ स्वागत करते हुए

वन निगम के उपाध्यक्ष केहर सिंह खाची का ठियोग उत्सव में पुष्प गुच्छ के साथ स्वागत करते हुए

नगर परिषद ने किया था आयोजन
ठियोग उत्सव का आयोजन नगर परिषद द्वारा किया गया। दरअसल, ठियोग में 16 अगस्त की शाम को सांस्कृतिक संख्या रखी गई थी। मगर, उस दौरान प्रदेश में भारी बारिश से हुई तबाही और जान व माल के नुकसान को देखते हुए ठियोग उत्सव नहीं मनाया गया। इसे देखते हुए बीती शाम ठियोग में कार्यक्रम रखा गया। इस दौरान मंत्री और वाइस चेयरमैन को सम्मानित किया गया।

आर्थिक स्थिति को देखते हुए लिया था निर्णय
प्रदेश की आर्थिक स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री ने यह निर्णय लिया था, क्योंकि राज्य पर करीब 80 हजार करोड़ रुपए का कर्ज चढ़ चुका है। 10 हजार करोड़ से ज्यादा की कर्मचारियों की देनदारी सरकार के पास है। 8600 करोड़ से ज्यादा का नुकसान इस बार की मानसून में हो गया है।

इसे देखते हुए फिजूलखर्ची कम करने को मुख्यमंत्री ने कई फैसले किए है। ऐसे में सवाल उठ रहे है कि यदि सरकार के नुमाईंदे ही सरकारी आदेशों को ठेंगा दिखाएंगे तो आम जनता से उम्मीद नहीं करनी चाहिए।

सरकारी कार्यक्रम में शॉल टोपी व पुष्प गुच्छ से सम्मानित करने पर रोक से संबंधित आदेश

सरकारी कार्यक्रम में शॉल टोपी व पुष्प गुच्छ से सम्मानित करने पर रोक से संबंधित आदेश

गार्ड ऑफ ऑनर पर भी रोक लगा चुके CM
इन हालात को देखते हुए CM सुक्खू प्रदेश में गार्ड ऑफ ऑनर पर भी रोक लगा चुके हैं। CM के आदेशानुसार, 15 सितंबर तक क्षेत्र के दौरे के दौरान अति विशिष्ट व्यक्तियों को गार्ड ऑफ ऑनर नहीं दिया जाएगा, ताकि पुलिस के जो जवान गार्ड ऑफ ऑनर में ड्यूटी देंगे, उन्हें आपदा के कारण उत्पन्न स्थिति में राहत एवं बचाव कार्य कर सकें। यही नहीं मुख्यमंत्री अपनी सिक्योरिटी को भी कम कर चुके हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Comment