हिमाचल में NHM से हटाए कर्मचारियों की जांच की मांग: BJP बोली- बर्तन मांजने का काम करवा रहे अफसर; विरोध किया तो नौकरी से निकाले

हिमाचल में NHM से हटाए कर्मचारियों की जांच की मांग: BJP बोली- बर्तन मांजने का काम करवा रहे अफसर; विरोध किया तो नौकरी से निकाले

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Shimla: Himachal Government Vs BJP | NHM Employee Removal | Allegations On Health Secretary | CM Sukhvinder Sukhu | Rakesh Sharma | Himachal Shimla News

शिमलाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

हिमाचल प्रदेश में नौकरी से निकाले गए 3 आउटसोर्स कर्मचारियों का मामला तूल पकड़ रहा है। भारतीय जनता पार्टी नौकरी से निकाले गए तीन NHM कर्मियों को लेकर मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू के बयान को मुद्दा बना रही है।

BJP प्रवक्ता राकेश शर्मा ने कहा कि सुक्खू सरकार में बेलगाम अफसरशाही, कर्मचारियों से बर्तन मांजने का काम करवा रही है। कर्मचारी जब इसका विरोध करते हैं तो उन्हें नौकरी से निकाल दिया जाता है। कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में एक लाख युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था। एक लाख रोजगार तो नहीं मिला। मगर, नौकरी पर रखे गए आउटसोर्स कर्मचारियों को जरूर नौकरी से हटाया जा रहा है।

मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि आउटसोर्स के लोग ठेकेदार के माध्यम से लगे होते हैं। कोई किसी के पास काम कर रहा होता है और उसे निकाल दिया है तो उसमे विवाद वाली कोई बात नहीं होती। उन्होंने मुख्यमंत्री के इस बयान को गैरजिम्मेदार बताया।

NHM से तीन दिन पहले हटाए गए तीन आउटसोर्स कर्मचारी

NHM से तीन दिन पहले हटाए गए तीन आउटसोर्स कर्मचारी

कर्मचारियों का शोषण कर रहे अधिकारी
राकेश शर्मा ने कहा कि सुक्खू सरकार में अधिकारी कर्मचारियों का शोषण कर रहे हैं। जिन कर्मचारियों की तैनाती दफ्तर में होनी चाहिए, उनसे अफसरों के घर पर बर्तन मांजने, कपड़े धुलवाने और निजी काम करवाए जा रहे हैं। उन्होंने खासकर स्वास्थ्य सचिव के साथ पूर्व में अटैच रहे तीन कर्मचारियों के मामले की सरकार से जांच की मांग की है।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सचिव ने सरकारी कर्मचारियों को अपने घर पर रख काम करवाया, यह गलत है और उसके बाद उनको नौकरी से बर्खास्त कर दिया, यह दुर्भाग्यपूर्ण है। कर्मचारी न्याय के इंतजार में है।

NHM कर्मियों ने लगाए स्वास्थ्य सचिव पर गंभीर आरोप
NHM के तीन कर्मचारी सोहनलाल, नीना और अनिल ने खुद मीडिया के सामने आकर स्वास्थ्य सचिव पर आरोप लगाया कि सचिव ने उनकी तैनाती दफ्तर में करवाई और उनसे काम घर पर लिया गया। इसी मामले को NHM कर्मचारी मुख्यमंत्री, हेल्थ मिनिस्टर, मुख्य सचिव और NHM के प्रोजेक्ट डायरेक्टर के समक्ष उठा चुके है। मगर, कही सुनवाई नहीं हो रही।

वहीं स्वास्थ्य सचिव ने इनका खंडन करने हुए झूठे आरोप बताए।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *