हिमाचल में कल रिहा होंगे 359 कैदी: सरकार ने लिया फैसला; विशेष सजा माफी योजना में 7 से लेकर 45 दिन की सजा माफ

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Himachal Government Will Release 359 Prisoners On Republic Day | The Government Took Decision | CM Sukhvinder Singh Sukhu

शिमलाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

हिमाचल सरकार ने गणतंत्र दिवस पर राज्य की विभिन्न जेलों में सजा काट रहे कैदियों की विशेष माफी की घोषणा की है। इसके तहत अच्छे आचरण वाले 359 बंदी कल रिहा किए जाएंगे।

कल रिहा होने वाले कैदियों में 3 की कल सजा पूरी हो रही है, जबकि 356 कैदियों की कम से कम 7 दिन और अधिकतम 45 दिन की सजा माफ की गई है। सजा माफी कैदियों के आचरण में सुधार, कारावास के दौरान अनुशासन और अच्छा आचरण अपनाने के लिए प्रेरित करने के मकसद से की जाती है।

नाहन जेल से सबसे ज्यादा 108 कैदी होंगे रिहा

राज्य सरकार के निर्णय के अनुसार सिरमौर जिले की नाहन जेल से सबसे ज्यादा 108 कैदी कल जेल से बाहर आएंगे। वहीं शिमला की कंडा जेल से 97 कैदी, कैंथू जेल के 15 कैदी, धर्मशाला से 65, चंबा से 17, बिलासपुर से 18, मंडी से 10, सोलन से 04, ऊना से 11, हमीरपुर से 5, कल्पा से 3, नालागढ़ कारावास से 6 बंदियों को रिहा किया जा रहा है।

भारत सरकार ने तीन चरणों में रिहा का निर्णय

भारत सरकार ने आजादी की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में अमृत महोत्सव कार्यक्रमों की श्रृंखला में बंदियों की कुछ श्रेणियों को विशेष माफी देने और उन्हें तीन चरणों 15 अगस्त 2022, 26 जनवरी 2023 और 15 अगस्त, 2023 को रिहा करने का प्रस्ताव है।

मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू

मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू

केंद्र के निर्देशों पर 5 बंदी किए जाएंगे रिहा

भारत सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों में जिन पात्र बंदियों ने अपनी 66 प्रतिशत सजा पूर्ण कर ली है, उसमें से 4 बंदियों को भी रिहा किया जा रहा है। एक बंदी जिसने अपनी कारावास की सजा पूर्ण कर ली है। मगर वह अपनी जुर्माना राशि देने में असमर्थ है, उस बंदी को भी रिहा किया जा रहा है। कुल मिलाकर केंद्र के निर्देशानुसार इस माफी से विभिन्न कारागारों से कुल 5 बंदियों को रिहा किया जा रहा है।

बीते साल स्वतंत्रता दिवस पर भी हिमाचल सरकार ने अच्छे आचरण वाले 363 कैदी रिहा किए थे।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *