हिमाचल के ऊंचे पहाड़ों से मानसून की विदाई शुरू: अगले 5 दिन खिलेगी धूप; चढ़ेगा पारा, सुहावने मौसम का मजा ले सकेंगे पर्यटक

हिमाचल के ऊंचे पहाड़ों से मानसून की विदाई शुरू: अगले 5 दिन खिलेगी धूप; चढ़ेगा पारा, सुहावने मौसम का मजा ले सकेंगे पर्यटक

[ad_1]

शिमला19 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
हिमाचल में मौसम विभाग ने 30 सितंबर तक मानसून की विदाई की संभावना जताई है। - Dainik Bhaskar

हिमाचल में मौसम विभाग ने 30 सितंबर तक मानसून की विदाई की संभावना जताई है।

हिमाचल के अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों से मानसून की विदाई शुरू हो गई है। पूरे प्रदेश से अगले पांच-छह दिन में मानसून पूरी तरह विड्रा हो जाएगा। देश के कई भागों में मानसून फिर एक्टिव हो रहा है। मगर हिमाचल में अगले पांच-छह दिन मौसम पूरी तरह साफ बना रहेगा। इसी बीच प्रदेश से मानसून की विदाई हो सकती है।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला की माने तो 30 सितंबर तक प्रदेशभर धूप खिलेगी। इससे अगले कुछ दिनों के दौरान तापमान में हल्का उछाल और मौसम सुहावना रहेगा। ऐसे में देशभर के पर्यटक पहाड़ों के सुहावने मौसम का लुत्फ उठा सकेंगे।

1 से 24 सितंबर तक नॉर्मल से 36% कम बरसात
प्रदेश में 25 अगस्त के बाद से मानसून कमजोर पड़ा हुआ है। एक से 24 सितंबर के बीच प्रदेश में 109.3 मिलीमीटर नॉर्मल बारिश होती है, लेकिन इस बार 70.1 मिलीमीटर ही बारिश हुई है। यह नॉर्मल से 36 प्रतिशत कम है। पिछले सालों के दौरान पहाड़ों पर ज्यादा सितंबर में ज्यादा नुकसान होता आया है, लेकिन इस बार कम बारिश से प्रदेशवासियों ने राहत की सांस ली है।

लाहौल स्पीति में नॉर्मल से 80 फीसदी कम, सोलन में 70 प्रतिशत और शिमला में 65 प्रतिशत बरसात हुई। वहीं सितंबर में कांगड़ा और ऊना दो ही जिले ऐसे हैं जहां नॉर्मल से ज्यादा बादल बरसे हैं। कांगड़ा में 13 फीसदी और ऊना में 16 प्रतिशत सामान्य से ज्यादा बारिश हुई।

1 जून से 24 सितंबर तक नॉर्मल से 22% ज्यादा मेघ बरसे
पूरे मानसून सीजन में पहाड़ों में इस बार एक जून से 24 सितंबर तक 723.1 मिलीमीटर सामान्य बारिश होती है, लेकिन इस बार 885.3 मिलीमीटर बारिश हुई, जो सामान्य से 22 प्रतिशत ज्यादा है। इसमें भी अधिकांश बारिश सात से 11 जुलाई, फिर 13 से 15 अगस्त और 22 से 24 अगस्त के बीच हुई है।

यही तबाही का भी बड़ा कारण रहा है, जितनी बारिश 15 से 20 दिन में होती है, उतनी बरसात इस बार चार-पांच दिन में हुई है। सोलन जिले में नॉर्मल से सबसे ज्यादा 75 प्रतिशत बादल बरसे हैं। वहीं बिलासपुर में 65 फीसदी ज्यादा और प्रदेश के इकलौते लाहौल स्पीति जिले में नॉर्मल से 40 प्रतिशत कम बरसात हुई है।

शिमला में मौसम साफ होने के बाद बढ़ने लगी रौनक, मॉल रोड पर टहलते हुए पर्यटक और स्थानीय लोग

शिमला में मौसम साफ होने के बाद बढ़ने लगी रौनक, मॉल रोड पर टहलते हुए पर्यटक और स्थानीय लोग

धूप खिलने से चढ़ेगा तापमान
प्रदेश में पिछले तीन चार दिनों के दौरान प्रदेश के ज्यादातर शहरों में तापमान नॉर्मल से कम चल रहा है। मनाली के मैक्सिमम टैम्परेचर में नॉर्मल की तुलना में सबसे ज्यादा 3.4 डिग्री की गिरावट आई है। यहां का अधिकतम पारा 21.4 डिग्री दर्ज किया गया। इसी तरह अन्य शहरों का पारा भी बीते तीन-चार दिन से नॉर्मल से कम चल रहा है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *