सिरमौर में बादल फटने से तबाही: सिरमौरीताल गांव के एक परिवार के 3 लोग लापता; 2 शव बरामद, 3 घरों को नुकसान

सिरमौर में बादल फटने से तबाही: सिरमौरीताल गांव के एक परिवार के 3 लोग लापता; 2 शव बरामद, 3 घरों को नुकसान


  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Sirmour: Cloud Cloud | Himachal Pradesh Weather Video Update | Ponta Sahib | Heavy Rain | Himachal Shimla Sirmour News

शिमला9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

सिरमौर जिला के सिरमौरी ताल गांव में बादल फटने के बाद लापता लोगों को खोजते हुए लोग।

हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के पांवटा साहिब में बीती रात बादल फटा, जिसके कारण सिरमौरी ताल गांव में फ्लैश फ्लड से एक मकान ढह गया। इसकी चपेट में एक ही परिवार के 5 लोग आए। इनमें दो बच्चे भी शामिल है। तीन व्यक्ति अभी लापता हैं, जबकि कुलदीप सिंह और उनके पोते नितेश का शव बरामद कर लिया गया है।

स्थानीय प्रशासन मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू में जुटा हुआ है, लेकिन बाढ़ के बाद मलबा अधिक आने से राहत एवं बचाव कार्य में मुश्किल हो रही है। इस घटना में गांव के ही 3 अन्य लोगों के घरों को भी क्षति पहुंची है। यह घटना बीती रात 8.30 बजे की बताई जा रही है।

सिरमौर जिले के सिरमौरी ताल गांव में बादल फटने के बाद मलबे में दबे लोगों को खोजते हुए प्रशासन और स्थानीय जनता

सिरमौर जिले के सिरमौरी ताल गांव में बादल फटने के बाद मलबे में दबे लोगों को खोजते हुए प्रशासन और स्थानीय जनता

इसके बाद गांव में अफरा-तफरी मच गई और लोगों की पूरी रात दहशत में बीती। बताया जा रहा है कि बादल मालगी के जंगल में बादल फटा। इसके बाद सिरमौरीताल गांव में बाढ़ से तबाही हुई है। ग्रामीणों की उपजाऊ जमीन भी बह गई है।

ये लोग आए चपेट में

सिरमौरीताल गांव में बादल फटने के बाद से कुलदीप सिंह (62) पुत्र संतराम और नितेश (10) पुत्र विनोद का शव बरामद कर लिया है, जबकि जीतो देवी (55) पत्नी कुलदीप, रजनी देवी (31) पत्नी विनोद कुमार ​और दीपिका (8) पुत्री विनोद अभी लापता है।

सिरमौरीताल गांव में रेस्क्यू में जुटे लोग

सिरमौरीताल गांव में रेस्क्यू में जुटे लोग

पांवटा साहिब शिलाई सड़क बंद
मूसलाधार बारिश के बाद सारा मलबा पांवटा साहिब शिलाई सड़क पर आ गया। इससे नेशनल हाईवे राजबन से सतौन तक अवरुद्ध हो गया है।

अगस्त में अब तक धीमा रहा मानसून

वहीं प्रदेश में अगस्त महीने में मानसून काफी कमजोर रहा है। इस दौरान कुछेक क्षेत्रों में ही बारिश हुई है। अगस्त में नॉर्मल से 60 प्रतिशत कम बरसात रिकॉर्ड की गई। लाहौल स्पीति में नॉर्मल से 90 प्रतिशत कम, चंबा में 80 प्रतिशत, किन्नौर 84 प्रतिशत, कुल्लू 83 प्रतिशत, शिमला 69 प्रतिशत, ऊना में 59 प्रतिशत, हमीरपुर में 32 प्रतिशत, कांगड़ा में 39 प्रतिशत, मंडी 47 प्रतिशत और सोलन में नॉर्मल से 27 प्रतिशत कम बारिश हुई है।

मालगी के जंगल में बादल फटने के बाद आया सैलान

मालगी के जंगल में बादल फटने के बाद आया सैलान

हल्का सक्रिय होगा मानसून

आमतौर एक से 9 अगस्त के बीच 88.7 मिलीमीटर बारिश होती है, लेकिन इस बार 35.8 मिलीमीटर बरसात ही हुई है। प्रदेशवासियों ने इससे राहत की सांस ली है। उधर, मौसम विज्ञान केंद्र शिमला की माने तो आज से 14 अगस्त तक मानसून हल्का सक्रिय हो सकता है। यानी इस दौरान कुछेक स्थानों पर बारिश हो सकती है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *