शिमला में स्लाटर हाउस सहित 5 घर ढहे: व्यक्ति के धड़ की तलाश में फिर शुरू होगा सर्च ऑपरेशन; सिर और दूसरे व्यक्ति का शव बरामद

शिमला में स्लाटर हाउस सहित 5 घर ढहे: व्यक्ति के धड़ की तलाश में फिर शुरू होगा सर्च ऑपरेशन; सिर और दूसरे व्यक्ति का शव बरामद


शिमलाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

शिमला के कृष्णानगर में स्लाटर हाउस ढहने से दबे एक व्यक्ति के धड़ (शरीर) की तलाश में कुछ देर बाद सर्च ऑपरेशन फिर शुरू होगा। देर रात तक चले राहत एवं बचाव कार्य के दौरान एक व्यक्ति का शव और दूसरे का सिर बरामद कर लिया गया था। मगर, धड़ का सुराग नहीं लग पाया।

इस बीच पहाड़ी से लैंडस्लाइड के खतरे को देखते हुए रात में रेस्क्यू ऑपरेशन रोकना पड़ा। इस हादसे में दो व्यक्ति के दबने की सूचना है।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, स्टालर हाउस मैनेजर सोन और वर्कर राजू कैश लेने जैसे ही इसके भीतर गए। उसके चंद सेकेंड के भीतर स्लाटर हाउस सहित पांच-छह मकान भी ताश के पत्तों की तरह ढह कर नाले में गिरे। इस घटना से जुड़े लाइव वीडियो को देखकर हर कोई सहम गया है और सबकों डरा रहा है।

शिमला के कृष्णानगर में ढहने के बाद नाले में समाया MC का स्लाटर हाउस

शिमला के कृष्णानगर में ढहने के बाद नाले में समाया MC का स्लाटर हाउस

पहले खाली कराए जा चुके थे मकान: DC

DC शिमला आदित्य नेगी ने बताया कि जो मकान गिरे हैं, उन्हें एहतियातन पहले ही खाली करवा दिया गया था। इनमें छह से सात परिवार रहते थे। मौके पर चार-पांच और घरों को भी खतरा पैदा हो गया है।

MC का स्लाटर हाउस जमीदोंज

कृष्णानगर में नगर निगम शिमला (MC) का इकलौता स्लाटर हाउस चल रहा था। अब यह ढह गया है। ऐसे में MC को भी इसका विकल्प खोजना होगा। MC ने मई 2014 में ही यहां आधुनिक स्लॉटर हाउस के निर्माण पर करीब 28 करोड़ रुपए खर्च किए थे।

कृष्णानगर में स्लाटर हाउस गिरने के बाद पहाड़ी पर लटके मकान, इन पर मंडरा रहा खतरा

कृष्णानगर में स्लाटर हाउस गिरने के बाद पहाड़ी पर लटके मकान, इन पर मंडरा रहा खतरा

कृष्णानगर पर संकट के बादल

कृष्णानगर में हर साल इस तरह के हादसे होते रहते है। स्लाटर हाउस के साथ चार-पांच घरों के ढहने के बाद दूसरे घरों पर भी खतरा मंडरा रहा है, क्योंकि यह कॉलोनी नाले के साथ सिंकिंग जोन पर बनी हुई है।

CM और नेता प्रतिपक्ष मौके पर पहुंचे

कृष्णानगर में इस हादसे के बाद मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू और नेता प्रतिपक्ष भी देर शाम स्थिति का जायजा लेने के लिए मौके पर पहुंचे। CM ने जिला प्रशासन और नगर निगम को खाली कराए गए घरों के लोगों के राहत एवं पुनर्वास के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

कृष्णानगर में लैंडस्लाइड के बाद राहत एवं बचाव कार्य को लेकर दिशा-निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री सुक्खू

कृष्णानगर में लैंडस्लाइड के बाद राहत एवं बचाव कार्य को लेकर दिशा-निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री सुक्खू



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *