शिमला में महिला ने NDRF को बताया फेल: बोली- लोकल लोगों की मदद लें; शिव मंदिर हादसे में एक और शव मिला

शिमला में महिला ने NDRF को बताया फेल: बोली- लोकल लोगों की मदद लें; शिव मंदिर हादसे में एक और शव मिला

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Shimla Shiv Babri Temple Collapses; One Body Recover | Rescue Operation | NDRF | Indian Army | Viral Video | Missing Person | | Himachal Pradesh University | HOD Mathematica Department | Person Missing | Himachal Shimla News

शिमला3 दिन पहले

  • कॉपी लिंक

हिमाचल के शिमला के शिव मंदिर हादसे में आज सुबह एक और शव बरामद हुआ है। मृतक की पहचान शंकर नेगी के तौर पर हुई। इस बीच सोशल मीडिया में महिला का दो दिन पुराना एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें महिला का NDRF पर गुस्सा फूटा।

महिला ने NDRF को फेल बताकर रेस्क्यू पर सवाल खड़े किए। कहा कि तीन दिन से बच्चे खाना नहीं खा रहे। आप यहां मिट्टी फेंकों, वहां फेंकों ताकि दबे लोगों को निकाला जा सके। वह इस काम में लोकल लोगों को लगाने की बात कह रही है।

शिव मंदिर में 15 शव बरामद
शंकर नेगी का शव मिलने के बाद इस हादसे में मृतकों की संख्या 15 हो गई है। स्थानीय पार्षद वीरेंद्र ठाकुर ने बताया कि मिसिंग रिपोर्ट के अनुसार अब 5 लोग ही लापता हैं। इनकी तलाश में सर्च ऑपरेशन जारी है।

उन्होंने बताया कि गुरुवार शाम सर्च ऑपरेशन की रणनीति में बदलाव किया है। अब मंदिर से 700 मीटर नीचे नाले से ऊपर की ओर मलबा हटाया जा रहा है, क्योंकि मंदिर के पास ज्यादा कामयाबी नहीं मिल पाई।

लापता लोगों के जिंदा होने की उम्मीदें कम
लापता लोगों के मिलने में हो रही देरी से इनके जिंदा होने की उम्मीदें भी टूटती जा रही है। तीन दिन में केवल 3 ही शव बरामद हुए हैं, जबकि घटनास्थल पर भारतीय सेना, NDRF, SDRF, पुलिस, होमगार्ड और लोकल लोग बड़ी संख्या में सर्च ऑपरेशन में जुटे हुए है।

मौके पर बड़ी संख्या में देवदार के पेड़, मलबा और रेलवे ट्रैक के आने से सर्च ऑपरेशन पहाड़ जैसी चुनौती बना हुआ है। इसमें सबसे बड़ी बाधा ढलानदार पहाड़ी का होना है, जहां नीचे नाले तक JCB और दूसरी मशीनरी ले जाना संभव नहीं है। इससे नाले में टनों के हिसाब के इकट्‌ठे मलबे को हटाना आसान नहीं है।

PTI अविनाश का सुराग नहीं:बेसुध मां से बेटे बार-बार पूछ रहे- पापा कब आएंगे

शिमला के शिव मंदिर हादसे ने कई परिवारों को उजाड़ दिया है। इनमें से एक किन्नौर के अविनाश नेगी का भी परिवार शामिल है। अविनाश का पांचवें दिन भी सुराग नहीं लग पाया। उनके दो बेटे बार-बार मां से पूछ रहे हैं कि पापा कब आएंगे। बेसुध मां कुछ बोलने की स्थिति में नहीं है। (पूरी खबर पढ़ें)

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *