शिमला के कॉलेज में 70 में से 55 स्टूटेंड्स फेल: BJP बोली- सरकार की लापरवाही, ‌‌मंत्री ने कहा- पूर्व सरकार ने टीचर तैनात नहीं किए

शिमला के कॉलेज में 70 में से 55 स्टूटेंड्स फेल: BJP बोली- सरकार की लापरवाही, ‌‌मंत्री ने कहा- पूर्व सरकार ने टीचर तैनात नहीं किए

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Shimla: Poor Result In Kupvi College | Not A Single Teacher Throughout Year | Now Political Turmoil Over Bad Results | Himachal Shilma Nerwa News

शिमला7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

हिमाचल में कुपवी कॉलेज में 70 बच्चों का भविष्य दांव पर है। पूर्व जयराम सरकार ने चुनावी साल में शिमला जिले के दुर्गम क्षेत्र नेरवा में कॉलेज तो खोल दिया, लेकिन टीचर एक भी नहीं दिया। नतीजा यह हुआ कि BA प्रथम वर्ष में 70 में से केवल 6 बच्चे ही परीक्षा में पास हो पाए। 9 छात्रों की कंपार्टमेंट आईं। 18 बच्चे ऐसे थे, जिन्होंने सालभर पढ़ाई नहीं होने की वजह से एक-दो पेपर ही दिए।

अब इस पर सियासी घमासान छिड़ गया है। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्र‌भारी अविनाश राय खन्ना ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू को पत्र लिखकर सरकार को घेरने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि कुपवी कॉलेज में सालभर टीचर नहीं होने से 50 से अधिक छात्र फेल हो गए। यह दुर्भाग्यपूर्ण है।

2022 में खोला था कॉलेज
भाजपा प्रभारी पर सूबे के शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर ने पलटवार किया। उन्होंने कहा कि अविनाश राय खन्ना को यह सवाल पूर्व CM जयराम ठाकुर से करना चाहिए। कुपवी में कॉलेज पूर्व जयराम सरकार ने साल 2022 में खोला। पूरे सालभर पूर्व सरकार ने कॉलेज में एक भी टीचर नहीं दिया, जबकि कॉलेज में 70 छात्र-छात्राएं पूरे सालभर टीचर का इंतजार करते रहे। इससे बच्चों का रिजल्ट खराब रहा।

उन्होंने बताया कि कांग्रेस की सरकार बनते ही कुपवी कॉलेज में तीन रेगुलर टीचर की तैनाती की गई। जल्द चार अन्य खाली पदों को भी भरा जाएगा।

चुनावी साल में छह महीने में दो दर्जन खोले, टीचर दिए नहीं: रोहित
रोहित ठाकुर ने कहा कि पूर्व सरकार ने पहले के साढ़े चार साल में मात्र दो कॉलेज खोले और आखिरी के छह महीने में दो दर्जन कॉलेज खोल दिए गए। मगर टीचरों की तैनाती नहीं की गई। पूर्व सरकार के कार्यकाल में 134 कॉलेज बिना प्रिंसिपल के थे।

कांग्रेस सरकार ने DPC करवाकर 83 कॉलेजों में प्रिंसिपल लगा दिए हैं। इसी तरह 83 असिस्टेंट प्रोफेसर को कॉलेजों में तैनाती दे दी है और 150 की नियुक्ति का प्रोसेस जारी है।

इस बार BA प्रथम और द्वितीय वर्ष में 62 बच्चे रह गए
बीते साल कुपवी कॉलेज में 70 बच्चे थे। इस बार कई बच्चे दूसरे कॉलेज में शिफ्ट हो गए हैं। अब BA प्रथम और द्वितीय वर्ष में कुल मिलाकर 62 ही बच्चे हैं। टीचर नहीं मिलने से बच्चे परेशान हैं। इससे अभिभावकों में भी सरकार के खिलाफ रोष पनप रहा है।

कुपवी में इसी प्राइवेट बिल्डिंग के पहले फ्लोर पर चलता रहा डिग्री कॉलेज

कुपवी में इसी प्राइवेट बिल्डिंग के पहले फ्लोर पर चलता रहा डिग्री कॉलेज

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *