मणिमहेश यात्रा शुरू, शाम 4:15 बजे तक शाही स्नान: पवित्र डल झील में डुबकी लगाने भरमौर पहुंचे श्रद्धालुओं के जत्थे; 23 सितंबर तक चलेगा यात्रा

मणिमहेश यात्रा शुरू, शाम 4:15 बजे तक शाही स्नान: पवित्र डल झील में डुबकी लगाने भरमौर पहुंचे श्रद्धालुओं के जत्थे; 23 सितंबर तक चलेगा यात्रा

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Chamba: Manimahesh Yatra Begins | Dip In Holy Dal Lake | Groups Of Devotees Reached Bharmour | India’s Holy And Sacred Manimahesh Yatra | Auspicious Time Of Royal Place | Himachal Chamba Shimla News

शिमलाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

भारत की पवित्र एवं पावन मणिमहेश यात्रा आधिकारिक तौर पर आज शुरू हो गई है। शाही स्तान का शुभ मुहूर्त आज शाम 4:15 शाम बजे तक रहेगा। इसके लिए श्रद्धालुओं के जल्थे चंबा के भरमौर से मणिमहेश को रवाना हो गए हैं। इससे पहले छोटा शाही स्नान बीती शाम 3.38 बजे हो गया।

आज से शुरू हुई मणिमहेश यात्रा 23 सितंबर तक चलेगी। इस यात्रा के लिए देशभर व नेपाल से भी श्रद्धालु पहुंचते हैं और डल झील में डुबकी लगाते हैं। इस बार यह यात्रा ऊंची चोटियों पर हल्के हिमपात के बीच हो रही है। इससे श्रद्धालुओं को इस बार यात्रा के दौरान ठंड का सामना करना पड़ेगा।

मणिमहेश मंदिर के पुजारी पंडित विपिन शर्मा ने मुताबिक इस बार जन्माष्टमी का छोटा न्हौण 6 सितंबर दोपहर 3:38 बजे शुरू हुआ, जो 7 सितंबर शाम 4:15 बजे तक चलेगा। छोटे न्हौण के बाद मणिमहेश यात्रा शुरू हो गई है।

मणिमहेश की ऊंची चोटियों पर दो दिन पहले हुआ ताजा हिमपात, इससे इस बार श्रद्धालुओं को इस यात्रा के दौरान ठंड से जूझना पड़ेगा

मणिमहेश की ऊंची चोटियों पर दो दिन पहले हुआ ताजा हिमपात, इससे इस बार श्रद्धालुओं को इस यात्रा के दौरान ठंड से जूझना पड़ेगा

पंजीकरण करवाने के बाद यात्रा पर आएं: SDM

राधाष्टमी का बड़ा स्नान 22 सितंबर को दोपहर बाद 1:36 बजे शुरू होगा और 23 सितंबर दोपहर 12:18 बजे तक चलेगा। SDM एवं मणिमहेश न्यास सचिव कुलवीर सिंह राणा ने यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं से आग्रह किया कि वे अपना पंजीकरण जरूर करवाएं और प्रशासन की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन करें। श्रद्धालुओं की सुरक्षा के यह जरूरी है।

मणिमहेश यात्रा के लिए इन निर्देशों का करें पालन

  • श्रद्धालुओं को चिकित्सा प्रमाण पत्र साथ लाने को कहा गया है। आधार शिविर हडसर में स्वास्थ्य जांच करवाएं, चढाई धीरे-धीरे चढ़े, सांस फूलने पर वहीं रुक जाएं
  • छाता, बरसाती, गर्म कपडे, गर्म जूते, टॉर्च और डंडा साथ रखें
  • प्रशासन की ओर से निर्धारित रास्तों पर चलें
  • स्वास्थ्य संबंधी समस्या पर निकटतम शिविर में संपर्क करें
  • दुर्लभ जड़ी-बूटियों एवं पौधों के संरक्षण में सहयोग करें
  • यात्री अपना पहचान पत्र/आधार कार्ड साथ रखें
  • सुबह 4:00 बजे से पहले और शाम 5:00 बजे के बाद हडसर से यात्रा न करें
  • नशीले पदार्थों व मांस मदिरा का सेवन न करें
  • छह सप्ताह से ज्यादा गर्भवती महिलाएं यात्रा न करें
  • मौसम खराब होने पर हडसर व डल झील के बीच धन्छो, सुंदरासी, गौरीकुंड एवं डल झील पर सुरक्षित जगह पर रुके
मणिमहेश यात्रा का मैप

मणिमहेश यात्रा का मैप

HRTC ने चलाई अतिरिक्त बसें

इस यात्रा को सरल व सुगम बनाने के लिए परिवहन निगम ने अतिरिक्त बसों की व्यवस्था की है, ताकि श्रद्धालुओं को यात्रा पूरी करने में कोई परेशानी न हो। डिमांड के हिसाब से अतिरिक्त बसें चलाई जाएगी।

घोड़े और हेली टैक्सी से भी पूरी कर सकते हैं यात्रा

इसी तरह प्रशासन ने श्रद्धालुओं की स्वास्थ्य जांच के लिए जगह-जगह कैंप स्थापित किए है। परिवहन और श्रद्धालुओं की सुरक्षा को देखते हुए 1050 पुलिस जवान जगह जगह तैनात किए गए है। भरमौर से यात्री घोड़े और हेली टैक्सी से भी मणिमहेश की यात्रा पूरी कर सकेंगे। घोड़े पर हडसर से मणिमहेश के लिए लगभग 4400 रुपए चुकाना होगा, जबकि हेली टैक्सी से जाने के लिए 9000 रुपए किराया देना होगा। पैदल भी श्रद्धालु इस यात्रा को पूरा कर सकते हैं।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *