धर्मशाला स्टेडियम की आउटफील्ड से इंग्लैंड नाखुश: कप्तान बटलर बोले- वर्ल्ड कप जैसे टूर्नामेंट में ऐसा नहीं होना चाहिए, सावधानी से खेलेंगे

धर्मशाला स्टेडियम की आउटफील्ड से इंग्लैंड नाखुश: कप्तान बटलर बोले- वर्ल्ड कप जैसे टूर्नामेंट में ऐसा नहीं होना चाहिए, सावधानी से खेलेंगे

[ad_1]

धर्मशाला2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
कल बांग्लादेश से होने वाले मैच से पहले आउटफील्ड को लेकर नाखुश दिखे इंग्लैंड के कप्तान जोस बटलर। - Dainik Bhaskar

कल बांग्लादेश से होने वाले मैच से पहले आउटफील्ड को लेकर नाखुश दिखे इंग्लैंड के कप्तान जोस बटलर।

धर्मशाला के इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में 10 अक्टूबर को इंग्लैंड और बांग्लादेश के बीच वर्ल्ड कप मैच खेला जाएगा। इससे पहले स्टेडियम की आउटफील्ड को लेकर इंग्लैंड के कप्तान जोस बटलर ने कहा कि वर्ल्ड कप जैसे टूर्नामेंट में ऐसी आउटफील्ड नहीं होने चाहिए, जहां आप अपने शरीर को पूरी तरह से समर्पित न कर पाएं। HPCA के आउटफील्ड पर कई पैचेस हैं।

उन्होंने कहा कि इंग्लैंड के खिलाड़ी इन पैचेस को लेकर पूरी तरह से सचेत हैं और सावधानी से खेलेंगे। खिलाड़ी चोट का कोई जोखिम मोल नहीं लेंगे। धर्मशाला के मैदान और पिच पर पिछले 2 दिनों में काफी अभ्यास किया है। हम पहले मैच में हार से उबरकर आगामी मैचों के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। हमें मैच में रन बचाने के लिए अधिक मेहनत करनी होगी। इन सभी चीजों से ही मैच जीत सकते हैं।

धर्मशाला क्रिकेट स्टेडियम में मैच से एक दिन पहले फुटबॉल खेलती इंग्लैंड की टीम।

धर्मशाला क्रिकेट स्टेडियम में मैच से एक दिन पहले फुटबॉल खेलती इंग्लैंड की टीम।

बोले- IPL में कई मैच खेले
बटलर ने कहा कि इंजरी भी मैच का हिस्सा है, ये होती रहती है। धर्मशाला की पिच अच्छी है। इसमें स्विंग भी मिलती है। यहां पर आईपीएल में खेलने का अनुभव भी है। ऐसे में अपनी टीम के बेहतर कॉम्बिनेशन के साथ मैदान में उतरेंगे। बांग्लादेश की टीम बहुत अच्छा खेल रही है।

हम किसी भी टीम को कम नहीं आंक सकते। बांग्लादेश के खिलाड़ियों ने पिछले मैच से स्पिन में बेहतर खेल दिखाया है। ऐसे में हम खिलाड़ियों के प्रदर्शन को भी ध्यान में रखते हुए टीम प्लान तैयार कर रहे है।

अफगानिस्तान के खिलाड़ी चोटिल होने से बचे थे
खराब आउटफील्ड का मामला अफगानिस्तान और बांग्लादेश के बीच 7 अक्टूबर को खेले गए वर्ल्ड कप के दूसरे मैच से शुरू हुआ था। मैच में अफगानिस्तान के मुजीब उररहमान ने फील्डिंग के दौरान डाइव लगाई तो मैदान की घास उखड़ गई थी। ICC ने भी मैच के बाद आउटफील्ड को औसत करार दिया है। उसके बाद दोनों टीमों के कोच ने आउटफील्ड की कड़ी आलोचना करते हुए कहा था कि बाउंड्री के पास कुछ स्थानों पर घास उखड़ी हुई है। इससे खिलाड़ियों को चोट लगने का जोखिम है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *