जेल में बंद कैथल का आरोपी बन गया इंस्पेक्टर: ​​​​​​​जॉइनिंग के लिए मांगी जमानत कोर्ट ने खारिज की; दूसरे की जगह पेपर देते पकड़ा था

जेल में बंद कैथल का आरोपी बन गया इंस्पेक्टर: ​​​​​​​जॉइनिंग के लिए मांगी जमानत कोर्ट ने खारिज की; दूसरे की जगह पेपर देते पकड़ा था

[ad_1]

चंडीगढ़/कैथल6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
आरोपी ने नौकरी जॉइन करने के लिए 20 दिन की जमानत मांगी थी। - Dainik Bhaskar

आरोपी ने नौकरी जॉइन करने के लिए 20 दिन की जमानत मांगी थी।

हरियाणा के कैथल का रहने वाला एक युवक जेल में रहते हुए पोस्टल डिपार्टमेंट में इंस्पेक्टर भर्ती हो गया। युवक को चंडीगढ़ में किसी दूसरे की जगह पेपर देते पकड़ा गया था।

सरकारी नौकरी लगने का पता चलते ही उसने जॉइनिंग के लिए कोर्ट से जमानत मांगी। हालांकि कोर्ट ने इसे खारिज कर दिया। उसे कहा कि वह अपने खर्च पर चाहे तो पुलिस कस्टडी में जॉइनिंग दे सकता है।

सिलसिलेवार ढ़ग से पढ़िए पूरा मामला

2 महीने पहले हुआ था गिरफ्तार
16 जुलाई 2023 को चंडीगढ़ की सीटीयू में हेवी बस ड्राइवर की पोस्ट के लिए एग्जाम था। सेक्टर-11 के गवर्नमेंट कॉलेज में प्रवीण कुमार नाम का एक कैंडिडेट वेरिफिकेशन के दौरान पकड़ा गया। उसके फिंगर प्रिंट मैच नहीं हुए।

ऐसे में पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने उस कैंडिडेट को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक आरोपी कैथल का रहने वाला बलिंदर सिंह था जो प्रवीण कुमार की जगह पेपर देने आया था। गिरफ्तारी के बाद जरूरी कार्रवाई हुई और उसे जेल भेज दिया गया।

पहले दिया था एग्जाम, भर्ती हो गया
कुछ दिन पहले आरोपी को पता चला कि उसकी पोस्टल डिपार्टमेंट में इंस्पेक्टर की नौकरी लग गई है। इसके लिए उसने गिरफ्तारी से पहले एग्जाम दिया था। जिसमें वह पास हो गया। उसे पणजी में जॉइनिंग के लिए कहा गया था।

कोर्ट में जमानत लगाई, 15 दिन में न पहुंचा तो नौकरी खतरे में पड़ जाएगी
बलिंदर सिंह ने कोर्ट में दायर याचिका में कहा कि उसे 15 दिनों के अंदर पोस्ट मास्टर जनरल गोवा रीजन, पणजी में जॉइन करना है। अगर वह वहां नहीं पहुंचा तो उसकी नौकरी खतरे में पड़ सकती है। इसलिए उसने कोर्ट से 20 दिनों की जमानत मांगी।

कोर्ट ने जमानत अर्जी नामंजूर की
कोर्ट ने बलिंदर की जमानत अर्जी मंजूर नहीं की। कोर्ट ने कहा कि वह नौकरी की जॉइनिंग के लिए पुलिस कस्टडी में जा सकता है, लेकिन उसे प्रोसेस पूरा कर लौटना होगा और अपने खर्च पर जाना होगा।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *