चंद्रयान-3 मिशन में मंडी के विजय भी शामिल: 21 साल की उम्र में बतौर साइंटिस्ट जॉइन किया; 13 सालों से ISRO में सेवाएं दे रहे

चंद्रयान-3 मिशन में मंडी के विजय भी शामिल: 21 साल की उम्र में बतौर साइंटिस्ट जॉइन किया; 13 सालों से ISRO में सेवाएं दे रहे

[ad_1]

धर्मशाला9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

चंद्रयान-3 मिशन में हिमाचल में मंडी जिले के पंजेठी गांव के रहने वाले विजय कुमार सेन भी शामिल रहे। विजय ने न केवल हिमाचल, बल्कि पूरे देश का नाम रोशन किया है। विजय के पिता को-ऑपरेटिव बैंक से रिटायर हैं, जबकि मां गृहणी हैं। माता-पिता को अपने बेटे की इस कामयाबी पर बहुत नाज है। उनका कहना है कि विजय बचपन से ही पढ़ाई में बहुत होनहार था।

गांववालों का कहना है की विजय हमारे बच्चों के लिया प्रेरणा का स्त्रोत है। विजय की पढ़ाई जवाहर नवोदय विद्यालय पंडोह से हुई है। उन्होंने ग्रेजुएशन हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी के अंतर्गत आने वाले IEET बद्दी से की है।

मंडी के पंजेठी गांव के रहने वाले साइंटिस्ट विजय कुमार सेन।

मंडी के पंजेठी गांव के रहने वाले साइंटिस्ट विजय कुमार सेन।

बिना कोचिंग के पास किया एंट्रेंस एग्जाम
इसके बाद उन्होंने बिना कोचिंग लिए ISRO का एंट्रेंस एग्जाम दिया और देशभर में पहला स्थान हासिल किया। 21 साल की उम्र में विजय ने 16 सितंबर 2010 में ISRO में बतौर साइंटिस्ट जॉइन किया। विजय के अध्यापकों का कहना है कि वह शुरू से ही शांत स्वभाव का है और पढ़ाई में बहुत होनहार है। विजय सेन ने चंद्रयान-3 से पहले मंगलयान और चंद्रयान 2 में अपना योगदान दिया है। विजय का छोटा भाई सुमित PWD में जेई है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *