कुल्लू में पैराग्लाइडिंग प्रशिक्षण के नाम पर फर्जीवाड़ा: 25-25 हज़ार में बिना कोर्स बांटे 70 से ज्यादा सर्टिफिकेट, आरोपी व्यक्ति पकड़ा


कुल्लू6 मिनट पहले

हिमाचल के कुल्लू में पैराग्लाइडिंग प्रशिक्षण के नाम पर फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है। पुलिस की टीम ने एक फर्जी सर्टिफिकेट बांटने वाला व्यक्ति पकड़ा है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार फर्जी सर्टिफिकेट बांटने वाला व्यक्ति स्वयं भी पैराग्लाइडिंग पायलेट है और उत्तराखंड का रहने वाला बताया जा रहा है। इसके साथ एक स्थानीय व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया गया है।

जानकारी के अनुसार इस बात का खुलासा उस समय हुआ जब एक व्यक्ति से प्रशिक्षण का सर्टिफिकेट उपलब्ध करवाने के लिए 30 से 35 हजार मांग रहा था, उसके बाद यहां अधिकारियों को फर्जी सर्टिफिकेट बांटने के गिरोह का पता चला और इसी दौरान माउंटेन इंस्टीट्यूट की टीम ने उस व्यक्ति को इधर लिया और मौके पर SDM कुल्लू विकास शुक्ला को भी बुलाया गया। लिहाजा SDM कुल्लू ने तुरंत कार्रवाई करते हुए व्यक्ति को गिरफ्तार करने के आदेश जारी किए हैं। लिहाजा इस दौरान व्यक्ति ने स्वयं ही खेल खुलासा किया है कि उसने जिला कुल्लू में 70 से ज्यादा सर्टिफिकेट अब तक बांटे हैं।

उधर SDM कुल्लू विकास शुक्ला ने बताया कि फर्जी सर्टिफिकेट जारी करने वाले व्यक्ति को पकड़ लिया गया है और इसकी शिकायत पुलिस को दे दी गई है पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है। लिहाजा इस मामले की गंभीरता को देखते हुए पर्यटन विभाग को भी उक्त व्यक्ति के खिलाफ शिकायत करने और जांच करने को कहा गया है।

फर्जी सर्टिफिकेट जो बांटे जा रहे थे ।

50 हजार रुपए में होता है कोर्स
दरअसल व्यक्ति ने जो फर्जी सर्टिफिकेट बेचे हैं दरअसल यह कोर्स अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण संस्थान मनाली ही करवाता है और यह कोर्स 50 हजार में 1 सप्ताह से 15 दिन तक का होता है। लेकिन व्यक्ति ने इस तरह के फर्जी सर्टिफिकेट तैयार कर बच्ची 25 हजार में बिना प्रशिक्षण किए हैं पैराग्लाइड पायलटों को उपलब्ध करवा दिए हैं। ऐसे में कुल्लू जिला में ही करीब 2 लाख रुपए के फर्जी सर्टिफिकेट का वितरण किया गया है।

हजारों जिंदगी से हो रहा था खिलवाड़
गौरतलब है कि जिस कोर्स का जाली सर्टिफिकेट व्यक्ति बन रहा था, उसको उसमें पैराग्लाइडिंग करते हुए यह सिखाया जाता है कि सामने नदी पहाड़ या कोई आपदा आने के समय किस तरह से सुरक्षित लैंडिंग की जाती है।​​​​​​​ गौरतलब है कि इस तरह से नकली सर्टिफिकेट बांधकर व्यक्ति कुल्लू जिला में होने वाले पैराग्लाइडिंग के दौरान हजारों जिंदगियों से खिलवाड़ किया जा रहा था।

स्थानीय व्यक्ति भी गिरफ्तार
SDM कुल्लू विकास शुक्ला ने बताया कि इस मामले में उत्तराखंड के इस व्यक्ति के साथ-साथ एक स्थानीय व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया गया है और अब इस बात की जांच की जाएगी की उसने और कहां-कहां इस तरह की सर्टिफिकेट बांटे हैं। व्यक्ति के पास से गिरफ्तारी के दौरान कुछ खाली सर्टिफिकेट बरामद हुए हैं, जिन्हें कब्जे में लिया गया है और मामला पुलिस को छानबीन करने के लिए फॉरवर्ड कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *