किरतपुर-मनाली फोरलेन 15 अक्टूबर तक होगा बहाल: NHAI चेयरमैन ने देखे हालात; बोलें- IIT की रिपोर्ट के बाद युद्ध स्तर पर होगा कार्य

किरतपुर-मनाली फोरलेन 15 अक्टूबर तक होगा बहाल: NHAI चेयरमैन ने देखे हालात; बोलें- IIT की रिपोर्ट के बाद युद्ध स्तर पर होगा कार्य


  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Shimla: Kiratpur Manali Fourlane Restored By 15 October | NHAI CHairman Santosh Kumar Yadav | PM Narinder Modi | Himachal Shimla Manali News

शिमला2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

किरतपुर-मनाली फोरलेन

सामरिक और टूरिज्म की दृष्टि से महत्वपूर्ण किरतपुर-मनाली फोरलेन को 15 अक्तूबर तक हर हाल में बहाल कर दिया जाएगा। यह दावा नेशनल हाईवे ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) के चेयरमैन संतोष कुमार यादव ने मंगलवार को मनाली किया। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि फोरलेन को लेकर स्थायी समाधान निकालने के लिए IIT रुड़की की रिपोर्ट के बाद कार्य शुरू किया जाएगा।

गौरतलब है कि हिमाचल में 7 से 11 जुलाई के बीच की भारी बारिश से किरतपुर-मनाली फोरलेन को लैंडस्लाइड होने से जगह-जगह भारी नुकसान हुआ था। कई जगह फोरलेन का नामो निशां तक मिट गया गया है। इसके बाद NHAI ने अगस्त के पहले सप्ताह में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के दौरे के दौरान किरतपुर से नैरचौक तक फोरलेन को बहाल कर दिया है। मगर, नैरचौक से आगे पंडोह तक सड़क की स्थिति अच्छी नहीं है।

किरतपुर-मनाली फोरलेन पर बनी टनल

किरतपुर-मनाली फोरलेन पर बनी टनल

नुकसान का मुआयना, पीड़ित परिवारों से मुलाकात

मंडी के छह मील, सात मील, नौ मील इत्यादि स्थानों पर बार-बार लैंडस्लाइड हो रहा है। इससे बार-बार जान व माल का नुकसान हो रहा है। इस बीच आज NHAI चेयरमैन किरतपुर-मनाली फोरलेन को हुए नुकसान को देखने मनाली पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कुल्लू-मनाली में प्रभावित परिवारों से भी मुलाकात की है।

बारिश ने टाला उद्घाटन

उन्होंने कहा कि NHAI सड़क की बहाली के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रहा है, ताकि स्थानीय लोगों सहित पर्यटकों को भी परेशानी से न जूझना पड़े। इसके बहाल होने के बाद संभव है कि इसी साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इसका उद्घाटन भी कराया जाए। हालांकि किरतपुर-मनाली फोरलेन का उद्घाटन 15 जुलाई तक कराने की योजना थी। इसकी तैयारियां भी पूरी कर ली गई थी।

किरतपुर-मनाली फोरलेन

किरतपुर-मनाली फोरलेन

PMO को भेज दिया था उद्घाटन का प्रस्ताव

राज्यपाल शिप प्रताप शुक्ल, मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू और नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर सभी फोरलेन का निरीक्षण भी कर चुके हैं। इनकी रिपोर्ट पर ही फोरलेन के उद्घाटन की तैयारी थी और PMO को इसकी तारीख के लिए फाइल भेज दी थी। इससे पहले इस फोरलेन पर बनी पांच टनल भी यातायात के लिए बहाल कर दी गई थी। मगर, जुलाई में कुल्लू व मंडी जिले में हुई भारी बारिश ने उद्घाटन की उम्मीदों पर पानी फेरा और सड़क को भारी नुकसान पहुंचाया है।

47 किलोमीटर कम होगी दूरी

चंडीगढ़ से मनाली की दूरी अभी 237 किमी है। इस फोरलेन के बनने के बाद यह दूरी कम होकर 190 किमी रह जाएगी। इससे दिल्ली, चंडीगढ़, हरियाणा से मनाली, लाहौल स्पीति और लेह-लद्दाख आने वाले टूरिस्ट के अलावा स्थानीय लोगों को भी इससे बड़ा फायदा होगा। इससे न केवल स्थानीय लोगों बल्कि विभिन्न प्रदेशों से मंडी, कुल्लू, बिलासपुर, लाहौल स्पीति आने वाले सैलानियों को भी फायदा होगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *