अटल टनल रोहतांग में पानी का रिसाव: लाहौल स्पीति के विधायक ने उठाए सवाल; बिना कम्पलीशन के PM से जल्दबाजी में उद्घाटन कराने का आरोप

अटल टनल रोहतांग में पानी का रिसाव: लाहौल स्पीति के विधायक ने उठाए सवाल; बिना कम्पलीशन के PM से जल्दबाजी में उद्घाटन कराने का आरोप

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Shimla: Water Leakage In Atal Tunnel Rohtang | Vehicular Movement Disrupted | Lahaul Spiti MLA Ravi Thakur | Inaugurated By Prime Minister Narendra Modi | Himachal Kullu News

शिमला19 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
अटल टनल में जमा हुए पानी को निकालते हुए - Dainik Bhaskar

अटल टनल में जमा हुए पानी को निकालते हुए

दुनिया की सबसे लंबी और 10 हजार फीट की ऊंचाई पर बनी अटल टनल में पानी का रिसाव बढ़ता जा रहा है। टनल के भीतर काफी समय से साउथ पोर्टल पर करीब डेढ़ किलोमीटर हिस्से में पानी का भर रहा है। इससे वाहनों की आवाजाही में भी बाधा उत्पन्न हो रही है।

लाहौल स्पीति के विधायक रवि ठाकुर ने जल्दबाजी में टनल का उद्घाटन करने का आरोप लगाते हुए निर्माण कार्य पर सवाल उठाए हैं। रवि ठाकुर ने कहा कि जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टनल का उद्घाटन किया है, तब से टनल में पानी बह रहा है।

अटल टनल रोहतांग पानी से जलमग्न

अटल टनल रोहतांग पानी से जलमग्न

इससे कई बार एक्सीडेंट भी हो रहे हैं। खासकर सर्दियों में पानी जमने से ज्यादा दिक्कत होती है। उन्होंने कहा कि करोड़ों रुपए खर्च करने के बावजूद पानी का रिसाव नहीं रुक रहा है। उन्होंने केंद्र व राज्य सरकार से इस पर संज्ञान लेने का आग्रह किया और कहा कि बिना कम्पलीशन के टनल का उद्घाटन कैसे करवाया गया।

विधानसभा में भी गूंजेगा मामला

रवि ठाकुर ने कहा कि उन्होंने अटल टनल में पानी के रिसाव से जुड़ा सवाल विधानसभा के मानसून सत्र में भी पूछा है। पानी के रिसाब के कारण क्षेत्र के लोग और यहां आने वाले पर्यटक भी परेशान है। लगातार हो रहे पानी के रिसाव के बाद टनल में नाला सा बह रहा है।

अटल टनल रोहतांग (फाइल फोटो)

अटल टनल रोहतांग (फाइल फोटो)

मील का पत्थर साबित हो रही टनल

रोहतांग में बनी अटल’ टनल मील का पत्थर साबित हो रही है। इस टनल से न केवल हिमाचल में पर्यटन की एक नई राह खुली है, बल्कि यहां के लोगों का जीवन भी सहज हुआ है। इस टनल ने ‘किसान और जवान’, दोनों की राह आसान कर दी है। सैन्य सामग्री की आपूर्ति या जवानों की आवाजाही में अटल टनल से बड़ी मदद मिल रही है।

लाहौल-स्पीति का संपर्क, जो लगभग आधे साल तक देश से कटा रहता था, अब इस टनल के चलते जनजातीय क्षेत्र के लोग किसी भी मौसम में कहीं पर आवाजाही कर सकते हैं। किसानों के उत्पाद अब फटाफट मंडी तक पहुंच जाते हैं। इस क्षेत्र में अब पर्यटन की नई संभावनाएं तलाशी जा रही हैं।

अटल टनल रोहतांग (फाइल फोटो)

अटल टनल रोहतांग (फाइल फोटो)

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *